14 Galatiya Jo Rog Ko Thik Nahi Hone Deti (Hindi) (Hindi - download pdf or read online

By DR ASHISH THAKKAR

जब भी हम बीमार होते है तो दवाई लेकर उसे ठीक करते है। जब हमें समझमें आता है कि इस दवाई से रोग सिर्फ कुछ समय के लिए ही ठीक होते है तो हम डॉक्टर और दवाई बदलते रहते है। लेकिन समस्या जड़ से ठीक होने के बजाय बढती ही जाती है।

जब तक हम रोगों को पैदा करने वाले कारणों को खोजकर उन्हें दूर नहीं करते तब तक हम रोग मुक्त और दवाई मुक्त नहीं हो सकते।
-------------------------------
घर में चूहा मरने की वजह से बदबू आ रही है। हम परफ्यूम लाकर छिडकते है। इससे कुछ समय के लिए बदबू कम जरुर होती है। लेकिन जैसे ही परफ्यूम का असर चला जायेगा फिर से अधिक बदबू आने लगेगी।

अब आप क्या करोंगे? क्या आप और अधिक पावरफुल परफ्यूम खरीदोगे? या आप उस चूहे को ढूंढकर बाहर फेकोगे?

ठीक उसी प्रकार किसी एक रोग या रोग के लक्षणों को दबा देने से आरोग्य नहीं प्राप्त होगा। रोगों को हमेशा के लिए और जड़ से नष्ट करना चाहते हो तो रोग पैदा करने वाले कारणों को नष्ट करना होगा।
-------------------------------
लगभग ninety eight % जीवनशैली संबंधित रोगों के पैदा करने वाले कारण तीन स्तरों पर होते है। यह तीन स्तर कुछ इस प्रकार से है:
1.आहार पद्धति (Diet),
2.जीवन पद्धति (Living tools) और
3.मन (Mind)
जब इन तीन स्तरों में से किसी एक या एक से ज्यादा स्तर पर गलतियां होती है तो रोग उत्पन्न होते है और बढ़ते जाते है। अगर हम इन तीन स्तरों में से रोग पैदा करने वाली गलतीयों को ढूंढ ले तो रोगों से हमेशा के लिए मुक्ति पा सकते है।

यह वही तरीका है जिसकी सहायता से हम पिछले 18 वर्षों से खुदको और हमारे बच्चों को बिना किसी दवाई के स्वस्थ रख पायें है।

अगर आप रोग मुक्त होना चाहते हो तो आपको उन गलतियों को जानना होगा जो जो आपके रोगों को जड़ से ठीक नहीं होने देती।
इस किताब में ऐसी 14 गलतियों के बारे में जानकारी दी है जो आपकी बीमारी को जड़ से ठीक होने से रोक सकती है और अच्छे से अच्छी ट्रीटमेंट को भी असफल बना सकती है।
-------------------------------
गलती 1: उपचारक आहार कम मात्रा में खाना

उपचारक आहार यह आहार रोग मुक्ति के लिए अनिवार्य है। इसकी जगह दुनिया की कोई भी दवाई नहीं ले सकती।
हमें एक बात समझ लेनी चाहिए कि “रोगों को जड़ से ठीक करने की क्षमता सिर्फ उपचारक आहार में है।”

इस लिए अगर हमें रोग मुक्त होना है या रोग मुक्त रहना है तो उपचारक आहार को सही मात्रा में लेना जरुरी है। इसे पृथ्वी की सबसे श्रेष्ट औषधि माना गया है। यह आहार हमारी प्रतिकार शक्ति को चमत्कारिक रूप से बढ़ाते है।

Show description

Read Online or Download 14 Galatiya Jo Rog Ko Thik Nahi Hone Deti (Hindi) (Hindi Edition) PDF

Similar books_1 books

Get Negative Thinking Rehab: How to Replace Negative Thinking PDF

Now and then you come across a compelling self-help booklet which uncovers your innermost hidden strength, and brings out suppressed motivation, ambition, talents, and skills which encourages and motivates you to rework your existence through own empowerment. This booklet is a needs to learn compelling inspirational publication with a purpose to empower your pondering.

Download e-book for kindle: Die Geschichte von Hrafnkell, Freys Priester: Die Geschichte by

Die Geschichte des norwegisch guy Hallfreður, der einer der ursprünglichen Siedler Islands wird und um das Jahr 900 mit seinem fünfzehnjährigen Sohn Hrafnkell , einem vielversprechenden jungen Mann , an der Ostküste ankam . Hrafnkell hat Ehrgeiz und gründet bald - mit der Erlaubnis seines Vaters - seine eigene Siedlung.

Download e-book for kindle: Increasing Income Inequality in the Nordics: Nordic Economic by

The contributions record how source of revenue inequality within the Nordics in quite a few dimensions have elevated over fresh a long time. those advancements are installed a world context. advancements in Denmark, Finland, Norway and Sweden are in comparison. vital elements analysed intimately are total inequality of either industry and disposable earning, the redistribution in the course of the tax and move procedure in addition to throughout the provision of presidency welfare prone, the significance of demographic elements, the advancements of either relative poverty and most sensible source of revenue stocks, and gender inequality.

's Jane Foster's Summertime PDF

This gorgeous board e-book is the precise advent to Summertime. From sand castles to ice cream, discover the colourful paintings created via acclaimed artist Jane Foster. definitely the right reward for vacation trips or a summer season baby.

Additional info for 14 Galatiya Jo Rog Ko Thik Nahi Hone Deti (Hindi) (Hindi Edition)

Example text

Download PDF sample

14 Galatiya Jo Rog Ko Thik Nahi Hone Deti (Hindi) (Hindi Edition) by DR ASHISH THAKKAR


by Kenneth
4.2

Rated 4.66 of 5 – based on 8 votes